1 जून से चलेंगी 200 ट्रेनें, जानिए कौन-सी है ट्रेनें और क्या है नियम!

Author

Categories

Share

कोरोना के काल में सब फँसे हुए है, जबसे देश में लॉकडाउन लगा है हर तरह की व्यवस्था को भारी नुक़सान का सामना करना पड़ा है और व्यक्ति को कही ना कही किसी ना किसी रूप में नुक़सान हुआ है। जब देश में लॉकडाउन लगा तो जो व्यक्ति जँहा था वही फँस कर रह गया ये मुद्दा भी काफ़ी गर्म हुआ की उन लोगों का क्या होगा जो रोज़ कमाते है और रोज़ खाते है।

आगे चलकर यह मुद्दा राजनीति का रूप बन गया। मज़दूरों के ऊपर देश में भारी राजनीति हुई। अंतत: भारतीय रेल के बार फिर देश की लाइफ़लाइन बनके आगे आयी। भारतीय रेल ने 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई और उसमें श्रमिकों को घर भेजना शुरू कर दिया। राज्य सरकार श्रमिकों की लिस्ट दूसरे राज्य को देते और अनुमति मिलने के बाद रेलवे ट्रेन उपलब्ध करवाती।

फिर ट्रेनो की ज़्यादा माँग होने पे भारतीय रेल ने 15 राजधानी ट्रेन चलाने का निर्णय लिया और देशभर में श्रमिकों के अलवा फँसे हुए लोगों को निकालने का कार्य शुरू कर दिया। IRCTC पर इन ट्रेनों की धमाकेधार बुकिंग शुरू हुए कुछ ही मिनटो में सारी ट्रेनें बुक हो गयी।

अब भारतीय रेल ने बड़ा निर्णय लेते हुए 200 नई ट्रेनों का परिचालन करने का निर्णय लिया है ये ट्रेने 1 जून से चलेंगी, जिनके टिकट की बिक्री 21 तारीख़ से सुबह 10 बजे से शुरू हो चुकी है। इसमें भी लाखों लोगों ने अपनी टिकट बुक करवा ली है।

 

ट्रेनों की सूची :

यात्रीयों के नियम :

  • रेल यात्रा करने से पहले आपको कुछ नियमों को ध्यान में रखना बहुत आवश्यक है वरना आप यात्रा नहीं कर पाएँगे
  • आपके मोबाइल में आरोग्य सेतु एप का होना अत्यंत आवश्यक है।
  • हर यात्री के मुँह पर मास्क अनिवार्य है।
  • वृद्ध लोगों को यात्रा करने की मनाही करने की सलाह दी गयी है
  • ट्रेन में एक दूसरे यात्री से खाना लेना या पानी लेना अनिवार्य नहीं है।
  • ट्रेन में केटरिंग की सुविधा नहीं दी गयी है तो यात्री अपना खाना लेकर चले
  • ट्रेन में किसी प्रकार का कंबल या बिस्तर नहीं दिया जाएगा
  • स्टेशन पर लगभग 90 मिनट पहले पहुँचना होगा ताकि स्क्रीनिंग की जा सके
  • सोशल डिसटेंसिंग का पालन अनिवार्य है।

ये कुछ महत्वपूर्ण बिंदु है जो हर एक यात्री को ध्यान रखना आवश्यक है। रेलवे आने वाले समय में और ट्रेनें चलाने पर भी विचार कर रहा है जिससे लोगों को जल्द से जल्द उनके गृह राज्य तक पहुँचाया जा सके।

Author

Share