fbpx

भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस ने खोला राज, इसलिए मिलाया था अजीत पवार से हाथ..

Author

Categories

Share

भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस ने खोला राज, इसलिए मिलाया था अजीत पवार से हाथ..

शनिवार को महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस ने बताया कि एनसीपी नेता अजीत पवार ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए उन्हें शरद पवार का पूरा समर्थन होने का दावा किया था, यही वो असली वजह थी जिससे उन्होंने सरकार बनायीं थी.

भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस ने खोला राज

सूत्रों के हवाले से पता लगा है की फडणवीस ने खुलासा किया की अजीत पवार ने उनसे कहा था कि वह शिवसेना और कांग्रेस के साथ तीन दलों की गठबंधन सरकार नहीं बनाना चाहते और महाराष्ट्र में एक स्थिर सरकार बनाने के लिए भाजपा को समर्थन देना चाहते हैं।

अजीत पवार के कुछ विधायकों से फड़नवीस से बात की थी

आगे अपनी बात पूरी करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि भाजपा-एनसीपी की सरकार बनने से पहले, अजीत पवार ने उनके कुछ विधायकों से फड़नवीस से बात भी की थी और उन्होंने अजीत पवार को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने का वादा किया था।

भाजपा नेता देवेंद्र फड़नवीस ने खोला राज

अपने ऊपर लगे आरोपों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा जिसमे कहा गया था की बीजेपी विधायकों को खरीद फरोख्त करती है, फड़नवीस ने इस दावे का सिरे से खंडन किया और कहा कि भाजपा कभी किसी के साथ ऐसा सौदा नहीं करती है। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता, तो बीजेपी पार्टी निश्चित तौर पर बहुमत से सरकार बनाती।

आपको याद दिला दे भाजपा और शिवसेना ने चुनाव से पहले गठबंधन के साथ महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव लड़ा था. चुनाव के बाद में दोनों दलों द्वारा मुख्यमंत्री पद और सत्ता साझा करने की बात पर सहमति नहीं बनने के वजह से गठबंधन में दरार आ गयी थी। क्युकी शिवसेना अपनी बात पर अडिग हो गयी जिसमे उन्होंने जोर देकर कहा कि बीजेपी 2.5 साल के मुख्यमंत्री साझे के फॉर्मूले पर सहमत जताई थी, जबकि बीजेपी ने साफ़ शब्दो में कहा कि उनके बीच ऐसा कोई सौदा नहीं हुआ था।

उद्धव ठाकरे के साथ संबंधों के विषय में बात करते हुए

जिसके बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ खंडित संबंधों के विषय में बात करते हुए, फड़नवीस ने कहा कि उद्धव ठाकरे के साथ उनके व्यक्तिगत संबंध अच्छे हैं और हमेशा रहेंगे “उनके बीच किसी तरह की कोई दीवार नहीं है।”

भाजपा सरकार के कार्यकाल में राज्य में शुरू की गई विकास परियोजनाओं के बारे में बात करते हुए, फड़नवीस ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि राज्य में बुलेट ट्रेन के निर्माण जैसी योजनाओं को नहीं रोका जाएगा क्योंकि इससे चारों ओर अनिश्चितता का माहौल पैदा हो जायेगा।

आपको यद् दिलाते चले जिस समय महाराष्ट्र में ये राजनीतिक विवाद चल रहा था उस बीच फड़वीस ने दूसरे सत्र के लिए मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी जिसमे अजीत पवार ने उनके साथ उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. बाद में 26 नवंबर को, फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया, अजित पवार ने भी उसी दिन इसितफा दिया था। फडणवीस ने अजीत पवार के इस्तीफे पर अपनी सरकार के पतन का आरोप लगाया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि हमारे पास बहुमत नहीं है।

Author

Share

%d bloggers like this: