क्यों है लोग PM मोदी के इतने दीवाने, उनके जीवन की 6 बातें जो आप नहीं जानते होंगे

क्यों है लोग PM मोदी के इतने दीवाने, उनके जीवन की 6 बातें जो आप नहीं जानते होंगे

भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, जिनके करोडो लोग दीवाने हैं। उनकी कही हुयी हर बात पर जान लुटाने को तैयार हैं। लेकिन क्या हम उनके बारे में सब जानते हैं? वह कौन हैं? कैसे हैं? उनकी आदतें क्या हैं? आइए आज आपको उनके जीवन के बारे में बताते हैं जिन्हे आपने सुना भी नहीं होगा।

क्यों है लोग PM मोदी के इतने दीवाने, उनके जीवन की 6 बातें जो आप नहीं जानते होंगे

PM नरेंद्र मोदी जीवन परिचय

उनका जन्म 17 सितंबर 1950 को हुआ था। इनकी माता श्री का नाम हीरा बेन है। इनके चार भाई और बहन हैं। इनकी पत्नी का नाम जसोदा बेन है, और शादी के तुरंत बाद ही दोनों अलग हो गए थे। किसी ज्योतिषी ने इनकी कुंडली देखकर कहा था कि राजनीति में इनकी बहुत अच्छी पकड़ रहेगी।

PM मोदी का रहन-सहन

मोदी जी व्यक्तिगत आदतों सर्वप्रथम स्वछता, इस्तरी किये हुए कपडे पहनना इनकी बचपन की आदतों में से है. नरेंद्र मोदी अपनी पहनावे पर बहुत ध्यान देते है. उनकी सबसे पसंदीदा पोशाक कुर्ता पैजामा है. उनके पास अनेको कुर्ते है जिसे वह अहमदाबाद के अपने मनपसंद दर्जी से सिलवाते है. कुर्ते के साथ साथ मोदी जी को कलाई घडी और सैंडल्स भी बहुत पसंद है. वो अपने आस पास हर चीज को साफ सुथरा रखना पसंद करते है.

क्यों है लोग PM मोदी के इतने दीवाने, उनके जीवन की 6 बातें जो आप नहीं जानते होंगे

PM मोदी का स्वास्थ्य

PM मोदी का वजन लगभग 84 किलो है। कम सोने की वजह से रीढ़ की हड्डी के ऊपरी हिस्से में थोड़ी समस्या रहती है जिसके कारण अक्सर इन्हें पीठ दर्द होता है। और ज्यादा देर तक खड़े रहने के कारण पैरों में सूजन भी आ जाती है। लेकिन ख़ुशी की बात यह है की ये सब सामान्य स्वास्थ्य समस्याएँ हैं। इनके अतिरिक्त PM मोदी पूरी तरह स्वस्थ है और स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या नहीं है।

उनकी कार्यशैली

PM मोदी बहुत ही वर्कहॉलिक हैं। वह 24 घंटो में केवल पाँच घंटे सोते हैं, और कभी-कभी तो उससे भी कम। किसी समय सुबह 7 बजे या उससे भी पहले वह गुजरात के लोगों के लिए ऑन लाइन हो जाया करते थे, और अब वह पूरे भारत के लिए सुबह 7 बजे से ही ऑन लाइन रहते हैं। वह सुबह जल्दी कार्यालय जाते हैं और आवश्यकता होने पर देर रात तक कार्य करते हैं। PM मोदी एक ऐसे नेता हैं जो राष्ट्रीय लोकतंत्र सरकार के प्रधानमंत्री हो कर भी राजनीति में अपनी पकड़ ढीली नहीं पड़ने देने के सभी प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए भले ही उन्हें कितना भी कार्य करना पड़े, वह कभी पीछे नहीं हटते।

व्रत और त्योहार

नरेंद्र मोदी जी हर साल नवरात्र में पूरे नौ दिन का उपवास रखते हैं। वह नवरात्र पर विशेष भोजन से परहेज करते हैं, जिसे पारंपरिक रूप से दिन में एक बार किया जाता है। और केवल एक बार ही फल कहते है. वह देवी अंबा की भक्ति के लिए उपवास करते हैं। माँ अंबा की भक्ति के प्रति श्रद्धा के कारण उन्होंने गब्बर पहाड़ी पर 70 करोड़ रूपए से अधिक धनराशि की शक्तिपीठ परिक्रमा का निर्माण किया है। जो भारत के लोगो के लिए एक महत्वपूर्ण पवित्र स्थान है।

क्यों है लोग PM मोदी के इतने दीवाने, उनके जीवन की 6 बातें जो आप नहीं जानते होंगे

RSS प्रचारक

नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) में पर्याप्त समय बिताया है, इन्होंने बाल स्वयं-सेवक के रूप में जब उनकी उम्र 8 साल की थी तब से RSS से निष्ठा की शपथ ली। इनकी चाय की दुकान के पास से RSS के कई प्रचारक और स्वयं सेवक गुजरते थे। मोदी के स्वयं सेवक होने की जानकारी मिलने पर चाय की दुकान उनका अड्डा बन गई। उसके बाद इन्हें संघ के कार्यालय में रहने का न्योता मिला। जहाँ सुबह उठकर वह प्रचारक और कार्यकर्ताओं के लिए नाश्ता बनाकर फिर शाखा जाते। लौटकर कार्यालय का झाडू-पोंछा करते और कपड़े भी धोते थे तथा अन्य कार्य करते थे। आपात काल के समय इन्होंने भूमिगत होकर भी कार्य किया। 1985 में आरक्षण विरोधी आंदोलन के समय संघ ने भाजपा के विभिन्न पदों पर अपने प्रचारकों की भरती की तथा 1987 में नरेंद्र मोदी को गुजरात भाजपा का संगठन मंत्री बनाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  1. Pingback: राहुल गाँधी के गाल चूमकर भगा सख्श, वायनाड दौरे की बात - देखे वीडियो -