fbpx

भारत को आज मिलेगा देश का पहला राफेल जेट विमान, फ्रांस में ही करेंगे ‘शस्त्र पूजन – रक्षामंत्री

Author

Categories

Share

भारत को आज मिलेगा देश का पहला राफेल जेट विमान, फ्रांस में ही करेंगे ‘शस्त्र पूजन – रक्षामंत्री

काफी लम्बे समय से चल रहे इस डील को को भारत ने करीब 59 हजार करोड़ रुपये मूल्य पर 36 राफेल जेट विमान खरीदने के लिए 2016 में फ्रांस के साथ समझौता किया था. देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बताया की वो विजयादशमी के शुभ अवसर पर फ्रांस की राजधानी पेरिस में भारतीय परंपरा के अनुसार शस्त्र पूजा करेंगे.

राफेल जेट विमान

आपको बता दे कि शस्त्र पूजा के बाद रक्षामंत्री फ्रांस की कंपनी दसॉ से खरीदे गए लड़ाकू विमान राफेल विमान में उड़ान भी भरेंगे और उसका अधिग्रहण भी करेंगे. आप सभी जानते ही होंगे कि राफेल विमान सभी तकनीकी सुविधाओं से लैश विमान है. भारत विजयादशमी के मौके पर 36 राफेल विमान दसॉ के साथ हुए सौदे में हासिल करेगा.

राफेल जेट विमान

भारतीय संस्कृति के अनुसार शस्त्र पूजा की परंपरा अनादिकाल से चली आ रही है. इसी परंपरा का पालन करते हुए भारतीय सेना में भी विजयादशमी के दिन शास्त्रों की पूजा की जाती है. इसी परंपरा को निभाने के लिए राफेल विमान का अधिग्रहण आज विजया दशमी के दिन होने जा रहा है.

आइये आपको बताते है इस मामले से जुडी जरुरी बातें

शस्त्र पूजा के बाद राफेल विमान के अधिग्रहण के पीछे ये धारणा है कि यह विमान भारत की ओर आंख उठाने वाली हर ताकत को बर्बाद करने में देश के सैनिको के लिए बहुत हीअहम साबित होगा.

राफेल जेट विमान

कहा जाता है कि भारतीय वायुसेना में इस विमान के आने पर देश की सामरिक शक्ति बढ़ेगी और पाकिस्तान जैसे देश जिसका हमेशा शत्रुता का बर्ताव रहा है वह आंख उठाकर देखने की हिमाकत भी नहीं करेगा.

रक्षा विशेषज्ञो की माने तो पाकिस्तान के पास मल्टी रोल विमान एफ-16 है. लेकिन वह वैसा ही है जैसा भारत का मिराज-2000 है. पाकिस्तान के पास राफेल जैसा या उसकी टक्कर का कोई विमान नहीं है.”

राफेल जेट विमान

आपको बता दे की फ्रांस, मिस्र और कतर के बाद भारत चौथा देश होगा जिसके पास राफेल विमान की शक्ति होगी. राफेल 5वीं पीढ़ी का बेहतरीन विमान है जिसमें राडार से बच निकलने की युक्ति है. इससे भारतीय खेमे में बहुत ही बल मिलेगा जो सैन्य दृष्टि से काफी अच्छा होगा .

Author

Share

%d bloggers like this: