देश के सबसे वरिष्ठ वकील और केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी नहीं रहे, PMO ने कही ये बात

देश के सबसे वरिष्ठ वकील और केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी नहीं रहे, PMO ने कही ये बात

भारत के प्रसिद्ध वकीलों में से एक और पूर्व केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी का आज सुबह दिल्ली में उनके घर पर निधन हो गया. जेठमलानी पिछले कुछ महीनों से ठीक नहीं थे, उनके बेटे महेश ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया। कानूनी वयोवृद्ध की मृत्यु सुबह 7:45 पर हुई। उनका अंतिम संस्कार आज शाम दिल्ली के लोधी रोड श्मशान में किया जाएगा। उनकी उम्र 95 वर्ष थी.

देश के सबसे वरिष्ठ वकील और केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी नहीं रहे, PMO ने कही ये बात

छह बार राज्यसभा सदस्य चुने गए जेठमलानी ने संयुक्त मोर्चा में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के नीति राजग सरकारों के साथ देश की सेवा की. वर्ष 2016 में वह राजद के टिकट पर राज्यसभा सदस्य के लिए चुने गए.

जेठमलानी जैसे अनुभवी वकील को कई बार भाजपा के टिकट पर संसद के दोनों सदनों के लिए चुना गया था, लेकिन पार्टी के साथ उनके संबंध कुछ खास नहीं थे। 1998 में राम जेठमलानी, अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमंडल में थे और फिर अक्टूबर 1999 में। इसके बावजूद, उन्होंने जुलाई 2000 में वाजपेयी की सरकार छोड़ दी और 2004 में, उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के खिलाफ लखनऊ से चुनाव भी लड़ा।

जेठमलानी एक बहुत ही प्रसिद्द वकील थे और उन्होंने कई हाई-प्रोफाइल मामलों के केस लड़े है. उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी, लालू प्रसाद यादव, जयललिता और अरविंद केजरीवाल जैसे कई शीर्ष राजनेताओं का कोर्ट में साथ दिया है और बचाव भी किया है.

आपको बता दे की 2010 में, जेठमलानी को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था। बर्ष 2017 में एक वकील के रूप में उन्होंने सात दशक लंबे करियर से अपनी रिटायरमेंट की घोषणा की। उनके 96 वें जन्मदिन से सिर्फ छह दिन पहले आज उनकी मृत्यु हो गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा

कानून के इस दिग्गज को याद करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, “भारत ने एक बहुत ही = असाधारण वकील और प्रतिष्ठित व्यक्ति को खो दिया है, उन्होंने अदालत और संसद दोनों में समृद्ध योगदान दिया है।” “वह मजाकिया थे, साहसी भी थे और कभी भी किसी भी समय कोई साहसपूर्ण व्यक्त करने से नहीं घबराते थे,”

देश के सबसे वरिष्ठ वकील और केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी नहीं रहे, PMO ने कही ये बात

एक और ट्वीट के जरिये प्रधानमंत्री ने कहा – श्री राम जेठमलानी जी की सबसे अच्छी पहलुओं में से एक उनके मन की बात कहने की क्षमता थी. उन्होंने कभी भी बिना किसी दर और संकोच के ऐसा किया. आपातकाल में उनका योगदान और जनता के लिए लड़ायी प्रेरड़ा दायक रही. जरुरतमंदो की मदद के लिए उनका हमेशा आगे रहना उनके व्यक्तित्व का एक अभिन्न हिस्सा था.

ग्रह मंत्री अमित शाह और डिफेन्स मिनिस्टर राजनाथ सिंह समेत कई अन्य बीजेपी नेताओ ने सुबह जेठमलानी के घर पहुंच उनको श्रद्धांजलि दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *