Home India संबित पात्रा ने जब पूछ लिए पीयूष गोयल से मजदूरों को लेकर...

संबित पात्रा ने जब पूछ लिए पीयूष गोयल से मजदूरों को लेकर सवाल, देखिये क्या दिए जवाब

0
141
संबित पात्रा ने जब पूछ लिए पीयूष गोयल से मजदूरों को लेकर सवाल, देखिये क्या दिए जवाब

संबित पात्रा ने जब पूछ लिए पीयूष गोयल से मजदूरों को लेकर सवाल, देखिये क्या दिए जवाब

अब तक रेल और प्रवासी मजदूरों को लेकर विपक्ष लगातार राजनीति करते आ रहा है. आए दिन वो प्रवासी मजदूरों को लेकर केंद्र पर हमले करता रहता है. पिछले दिनों सड़कों पर सैंकड़ों किलोमीटर की यात्रा कर रहे प्रवासी मजदूरों को लेकर प्रियंका गाँधी वाड्रा ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को 1000 बसों की सूचि दी थी. इस सूचि में बसों के अलावा मोटरसाइकिल, ऑटो रिक्शा, एम्बुलेंस और कुछ कबाड़ बसों के नंबर भी थे.

ऐसे में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने रेल मंत्री पीयूष गोयल से रेल और प्रवासी मजदूरों से सम्बंधित कुछ सवाल पूछे जिनके जवाब में पीयूष गोयल ने क्या कहा आइये देखते हैं.

  • लोगों को गर्व है कि इस देश ने पूरे विश्व में कोरोना वायरस की लड़ाई लड़ने का एक नया मॉडल स्थापित किया है.
  • इस पूरे लॉकडाउन के दौरान भारतीय रेल प्रतिबद्ध रही है कि देश में कहीं भी अनाज की कमी न हो, खाद्यान्न की कमी न हो और कोयले की कमी न हो.
  • कोरोना महामारी से निपटने के लिए भारतीय रेल ने योगदान दिया है. जनता कर्फ्यू के बाद से भारतीय रेल बंद थी इसके बाद धीमें-धीमें पहले 15 ट्रेन और फिर श्रमिक स्पेशन ट्रेन शुरू की. अब 1 जून से 200 और ट्रेन शुरू होने जा रही हैं.
  • रेलवे में आइसोलेशन वार्ड की कल्पना प्रधानमंत्री मोदी जी ने सामने रखी. उसके बाद हम तुरंत इस काम पर लग गए और एक प्रोटोकॉल के तहत करीब पांच हजार रेलवे के डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया गया.
  • आज तक 2,050 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए लगभग 30 लाख प्रवासी मजदूरों को उनके गंतव्य स्टेशनों तक पहुंचाया गया है.
  • इस मुहिम में अगर किसी राज्य ने और किसी राज्य के मुख्यमंत्री ने सबसे ज्याद हमारी सहायता की और इस श्रमिक स्पेशल ट्रेन का लाभ लिया है वो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी हैं. उत्तर प्रदेश में 1,054 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चली हैं.
  • आज तक झारखंड राज्य ने मात्र 96 ट्रेनों को अनुमति दी है, राजस्थान ने अभी तक 35 ट्रेन ही जा पायी हैं. मैं सभी राज्यों से अपेक्षा करता हूं कि वो अपने लोगों को अपने घर आने दें और हमे ट्रेन चलाकर उन्हें पहुंचाने में हमारी सहायता करें.
  • देश को सामान्य स्थिति की ओर ले जाने का समय आ गया है. इस दिश में हमने 1 जून से देश के भिन्न-भिन्न राज्यों से 200 ट्रेनों की शुरुआत करने जा रहे हैं.
  • बाद में बंगाल ने 104 ट्रेनों की सूची दी जो 15 मई से 15 जून तक वहां जानी है, यानी 30 दिन में मात्र 104 ट्रेनों के जरिये 1 लाख 70 हजार लोग आप भेजोगे जबकि जाना चाहते हैं 30 लाख तो हमारे प्रवासी मजदूर भाई-बहन स्वाभाविक रूप से परेशान होंगे ही.
  • आज तक पश्चिम बंगाल में हम मात्र 27 ट्रेन चला पाए हैं. आपको याद होगा कि 8 या 9 मई तक तो वहां मात्र 2 ट्रेन ही पहुंच पायी थी. हम ट्रेन चलने की अनुमति मांगते थे तो नहीं दी, माननीय गृह मंत्री जी ने चिट्ठी लिखी उसके बाद भी 8 ट्रेनों की सूची मिली.
  • कोई भी व्यक्ति बिचौलिए या दलाल के झांसे में आकर ट्रेन की टिकट न खरीदें. उस व्यक्ति से सावधान रहें और 138 हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें.

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here