fbpx

शिवसेना ने बीजेपी और दुष्यंत चौटाला को लेकर मारा ऐसा ताना, बहस का माहौल

Author

Categories

Share

शिवसेना ने बीजेपी और दुष्यंत चौटाला को लेकर मारा ऐसा ताना, बहस का माहौल

महाराष्ट्र में महागठबंधन के बहुमत के बावजूद सरकार बनाने से रोकने वाली बीजेपी-शिवसेना की सत्ता के टकराव हम सब जानते है, और इसी बीच शिवसेना के नेता संजय राउत ने आज हरियाणा के दुष्यंत चौटाला संदर्भ में एक तीखा हमला किया है जिसके बाद माहौल ही बदल गया है।

संजय राउत - शिवसेना के नेता
संजय राउत – शिवसेना के नेता

आपको बता दे शिवसेना नेता संजय राउत से जब भाजपा के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन के बावजूद देरी के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई को कहा कि, “यहां कोई दुष्यंत (चौटाला) नहीं है, जिसके पिता जेल में हैं। यहां हम हैं जो धर्म और सत्यता की राजनीति करते हैं।

उन्होंने आगे कहा: “अगर कोई हमें सत्ता से दूर रखना चाहता है, तो यह हमारे लिए एक सम्मान की बात है। हम जल्द ही निर्णय लेंगे। साथ ही साथ हम वर्तमान में देख रहे हैं कि लोकसभा चुनावों से पहले लोग किस तरह का सहारा ले सकते हैं।” हमारी सिर्फ एक मांग यह है कि जो पहले तय किया गया है, उसके अनुसार ही काम करना चाहिए। ”

बीजेपी ने JJP के साथ मिलकर बनायीं है सरकार

आपको बता दे की भाजपा, जो हरियाणा में बहुमत के नंबर से दूर रह गयी, उन्होने दुष्यंत चौटाला के लिए उप मुख्यमंत्री के पद के साथ, जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के समर्थन से सरकार बनाई है. आपको याद दिला दे की जननायक पार्टी का आधार ही भाजपा पार्टी की आलोचना था लेकिन हरियाणा में सरकार इन दोनों पार्टियों ने ही मिलकर बनायीं है.

शिवसेना ने बीजेपी को दुष्यंत चौटाला
मनोहर लाल खट्टर और दुष्यंत चौटाला सपथ ग्रहण के दौरान

वहीं विपक्ष ने भाजपा पर अपनी वार्ताओं में दुष्यंत चौटाला के पिता अजय चौटाला का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। आपकी जानकारी के लिए बता दे अजय चौटाला जेल में भ्रष्टाचार के आरोप में समय काट रहे हैं. रिजल्ट आने के एक दिन बाद ही जब बीजेपी और दुष्यंत चौटाला ने एक साथ गठबंधन करने की घोषणा की, तो उनके पिता को जेल से निकाल दिया गया।

चौटाला ने दिया जवाब

दुष्यंत ने उनके इस ताने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। “इसका मतलब है कि वह जानता है कि दुष्यंत चौटाला कौन हैं। मेरे पिता छह साल से जेल में हैं, उन्होंने कभी भी उनकी भलाई के बारे में नहीं पूछा। अजय चौटाला जी कार्यकाल से पहले बाहर नहीं आए हैं। इस तरह के बयान संजय जी को शोभा नहीं देता।” हरियाणा के नए उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा।

दुष्यंत चौटाला - उप मुख्यमंत्री हरियाणा
दुष्यंत चौटाला – उप मुख्यमंत्री हरियाणा

इस बीच संजय राउत, जो भाजपा पर अपने हमलों में लगातार और निरंतर रहे हैं, ने यह भी कहा: “उद्धव ठाकरे जी ने कहा है कि हमारे पास अन्य विकल्प भी हैं, लेकिन हम उन विकल्पों को स्वीकार नहीं करना चाहते हैं। शिवसेना हमेशा से सच्चाई की राजनीति में विश्वास किया जाता है, हम सत्ता के भूखे नहीं हैं। ”

बीजेपी की परेशानी

सूत्रों का कहना है कि भाजपा पार्टी, शिवसेना, विशेषकर संजय राउत से लगातार परेशान है। कल, दोनों दलों ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ अलग-अलग बैठकें कीं, जिससे इन अटकलों को बल मिला कि उनकी भागीदारी बुरी तरह से प्रभावित है।

आपको बता दे की तीन दशकों से सहयोगी, दोनों दलों के लिए 50:50 की व्यवस्था के लिए शिव सेना की मांग पर मतभेद है, जिसमें दोनों पक्षों को मुख्यमंत्री का पद सँभालने की कवायद है।

क्या है शिवसेना की मांग यहाँ पढ़े.

शिवसेना ने बीजेपी को दुष्यंत चौटाला को लेकर मारा ऐसा ताना

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बीजेपी को याद दिलाते हुए कहा कि इस साल के शुरू में राष्ट्रीय चुनाव से पहले ही 50:50 की बात की गई थी। जबकि देवेंद्र फडणवीस के पूरे कार्यकाल में मुख्यमंत्री बने रहने के बारे में भाजपा का कहना है कि विधानसभा चुनाव से पहले ऐसा कोई सौदा नहीं हुआ था।

सीटों की साझेदारी

आपकी जानकारी के लिए बता दे की पिछले सप्ताह महाराष्ट्र चुनाव में, भाजपा ने 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में 105 सीटें जीतीं और शिवसेना 56 के साथ समाप्त हुई। जबकि 2014 में बीजेपी के पास 122 सीट थी. शिव सेना का कहना है की चुनाव से पहले ही उनकी सीट शेयरिंग को लेकर बात हो चुकी थी जिसे अब बीजेपी नकार रही है. दोनों पार्टियों की सीटों को मिला कर कुचल 161 सीट होती है जो की सरकार बनाने के लिए जरुरी 146 सीटों से कही ज्यादा है. इसी बीच शिव सेना ने एक और दावा किया है की उनके पास 5 अन्य विधायकों की समर्थन के साथ अब उनके पास कुल 61 विधायक हो गए है.

Author

Share

%d bloggers like this: